akbarpurallahabadArrahbankaBhagalpurBiharCrimeDelhiEntertainmentfaizabadGayagodda jharkhandgondaJehanabadjharkhandkatiharkishanganjLife TVLifestyleLiteraturelucknowmadhehpuramotihariMuzaffarpurNalandananitalNationalNewsPatnaPoliticspurniaranchi jharkhandsitapurSiwanSportssultanpursupualtandautranchalUttar Pradeshvaranasiwest bengalyatyat thana

भाजपा नेत्री स्वर्गीय साधना झा की स्मृति में एक कार्यक्रम का आयोजन

भागलपुर बिहार

भाजपा नेत्री स्वर्गीय साधना झा की स्मृति में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में शहर के गणमान्य लोगों ने अपनी भावनाओं को साधना जी की स्मृति में व्यक्त किया। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष नभय चौधरी ने कहा की साधना झा जीवन जीने का एक नाम था। प्रत्येक व्यक्ति को स्वयं से जोड़े रखने का एक अभियान था। सभी में परमात्मा का एक रुप देखती थी। निराशा को भी साहस में बदल देने का आत्मविश्वास साधना जी में था। जब कभी कोई कार्यकर्ता निराश होता था तो उसमें आशा भरने का काम किया करती थी। दैनिक भास्कर के संपादक भवानंद झा ने कहा कि दीदी से मेरा परिचय काफी पुराना है। कभी मुझे एहसास ही नहीं हुआ कि मैं उनका सहोदर भाई नहीं हूं। दूसरों में भी अपनेपन का भाव जो देखती थी उसी के कारण वह सब की दीदी थी। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष संतोष कुमार ने कहा कि नाम उनका साधना था और जीवन का प्रत्येक पल भी उन्होंने साधना में ही व्यतीत किया नाम के अनुरूप उनका यह जीवन इस समाज में शोषित और वंचितों के बीच में नायिका थी। जिला महामंत्री देवव्रत घोष और दिलीप निराला ने कहा कि एक एक चीज पर उनकी पारखी नजर रहती थी। संगठन कार्य में सदैव उनका जीवन लगा रहा संगठन में काम करने वाले जो निचले स्तर के कार्यकर्ता थे उनकी भी चिंता करती थी। प्रदेश कार्यसमिति सदस्य प्रीति शेखर ने कहा कि हमने अपने व्यक्तिगत जीवन में उनसे बहुत कुछ सीखा है। जब कभी राजनीतिक जीवन में निराशा आती थी दीदी साहस बनकर उस समस्याओं का निपटारा करती थी। भाजपा नेता विष्णु शर्मा ने कहा की उनका जीवन सादगी और सरलता का पर्याय था। एक एक व्यक्ति के चिंता करना उनके जीवन का कर्तव्य था और अंतिम क्षण तक उन्होंने इसे निभाया। विनोद सिन्हा और सज्जन अवस्थी ने कहा कि उनके जीवन मे संयुक्त लोगों के जीवन को बदलने का काम किया है। आज मेरी आंखों में आंसू है लेकिन यह आंसू इस बात की है उन्होंने मेरे जीवन को काफी प्रभावित किया है। जब कभी मुलाकात होती थी दीदी पूरे परिवार के बारे में पूछती थी कि आपके बच्चे और आपके पत्नी का क्या हाल-चाल है दीदी से जो मेरा संबंध था। उन संबंधों ने मेरे जीवन को नया दिशा देने का काम किया है। कार्यक्रम में सुबोध विश्वकर्मा ने कहा कि मैं बता नहीं सकता हूं कि उनका जीवन कैसा था। शब्दों में उनके जीवन को व्यक्त करना संभव नहीं है। दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष विश्वे श्वर्या ने कहा कि वह सब की दीदी थी साधना ने अपने जीवन को ही साधना से बदल दिया था। कार्यक्रम में तिलकामांझी भाजयुमो मंडल अध्यक्ष चंदन ठाकुर ने मंच संचालन किया। इस श्रृद्धांजलि सभा के अवसर पर निधि ही लोगों के बीच स्वर्गीय साधना झा की पुत्री बहना जागो मंच की सचिव प्रियंका झा एवं गणमान्य लोगों द्वारा कम्बल वितरित किया गया। मौके पर भागलपुर भाजपा कार्यकारी अध्यक्ष संतोष कुमार, एमएलसी डॉ एन के यादव, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ प्रीति शेखर मनीष दास िला उपाध्यक्ष दिलीप निराला, जिला महा मंत्री देवव्रत घोष, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रुबी दास, प्रीती शेखर, आशुतोष झा जिला मीडिया प्रभारी इंदु भूषण झा, अरबिंद झा, राहुल झा, रोहित झा, सुधीर भगत, राजीव मुन्ना, विवेकानंद प्रसाद, विनोद सिन्हा, मनीष दास ,सोमनाथ शर्मा, प्रो आनंद पांडे, विष्णु शर्मा, राजा यादव , मंडल अध्यक्ष पंकज सिंह, मुन्ना सिंह ,मोहित कुमार दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित रहे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button