akbarpurallahabadArrahbankaBhagalpurBiharCrimeDelhiEntertainmentfaizabadGayagodda jharkhandgondaJehanabadjharkhandkatiharkishanganjLife TVLifestyleLiteraturelucknowmadhehpuramotihariMuzaffarpurNalandananitalNationalNewsPatnaPoliticspurniaranchi jharkhandsitapurSiwanSportssultanpursupualtandautranchalUttar Pradeshvaranasiwest bengalyatyat thana

भागलपुर,दिनांक:15/12/21


आज दिनांक:15/12/21 को समाहरणालय स्थित समीक्षा भवन में बिहार महादलित विकास मिशन के सौजन्य से विकास रजिस्टर कार्य एवं बाल विवाह,दहेज प्रथा उन्मूलन,स्वास्थ्य,शिक्षा,स्वच्छता एवं मद्य निषेध पर केंद्रित किशोर किशोरी समूह के गठन संबंधी समीक्षात्मक बैठक एवं प्रशिक्षण सत्र का आयोजन किया गया।समीक्षात्मक बैठक की अध्यक्षता कर रहे जिलाधिकारी ने उक्त अवसर पर विकास मित्र एवम गठित समूहों को निदेश दिया कि वे सामाजिक कुरीतियों यथा:बाल विवाह,दहेज प्रथा उन्मूलन में एवम संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं,पेंशन योजनाओं के प्रचार प्रसार एवं प्रभावी क्रियान्वयन में महती भूमिका का निर्वहन करे।उन्होंने कहा कि वर्तमान में महादलित समाज के सर्वांगीण विकास के उद्देश्य से विभिन्न प्रकार की योजनाये संचालित है।गठित समूह एवं विकास मित्र महादलित समाज को क्रियान्वित योजनाओ से अवगत कराएं एवं नियमानुसार उन्हें योजना से लाभान्वित होने में मदद करे।जिलाधिकारी ने विकास मित्रो एवं गठित समूहों को क्रियान्वित मद्य निषेध अभियान के ठोस क्रियान्वयन में प्रभावशली भूमिका निर्वहन हेतु निदेशित किया है।उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों द्वारा शराबबंदी को प्रभावित करने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है।ऐसे तत्वों के संबंध में सूचना देने हेतु टॉल फ्री नंबर उपलब्ध है। संज्ञान में आने पर तत्क्षण ऐसे तत्वों के संबंध में सूचित करने हेतु निदेशित किया गया
है।सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जायेगी।बैठक में उपस्थित उप विकास आयुक्त ने बाल विवाह, दहेज प्रथा जैसे सामाजिक कुरीतियों के विरुद्ध आम नागरिक को जागरूक करने मे एवं संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं के सुचारू क्रियान्वयन एवं प्रचार प्रसार में गठित समूहों से महत्वपूर्ण भूमिका निर्वहन की अपेक्षा की है।
समीक्षात्मक बैठक के दौरान जिला कल्याण पदाधिकारी ने समूह गठन की प्रक्रिया,कार्यक्षेत्र के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।उन्होंने बताया कि पंचायतवार प्रत्येक महादलित टोलों में 03(तीन)किशोरी समूह एवं 01(एक) किशोर समूह का गठन किया जाना है।प्रत्येक समूह में 12 से 20 बर्ष आयु वर्ग के दस से पंद्रह किशोर/किशोरी सम्मिलित रहेंगे।किशोर समूह में केवल निर्धारित आयु वर्ग के किशोर एवं किशोरी समूह में निर्धारित आयु वर्ग की किशोरियों की भागीदारी रहेगी।जानकारी दी गई कि विभागीय निदेशानुसार ऐसे लगभग 816 समूहों का गठन किया जा चुका है,जिसमे से वर्तमान में 475 समूह कार्यशील है।समीक्षात्मक बैठक के दौरान शेष गठित समूहों के सक्रियता हेतु आवश्यक कारवाई का निदेश दिया गया है।समीक्षा क्रम में यह तथ्य उभरकर सामने आया कि प्रतेयक समूह को प्रथम तीन महीने प्रतेयक पंद्रह दिन के अंतराल पर बैठक आयोजित करना है एवं तदुपरांत प्रतेयक महीने एक बैठक का आयोजन करना है।निदेश दिया गया की समूह द्वारा आयोजित बैठकों में अधिकाधिक आम नागरिकों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए एवम बैठक के दौरान उन्हें सामाजिक कुरीतियों यथा:बाल विवाह,दहेज प्रथा उन्मूलन हेतु प्रेरित किया जाए, उन्हें संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं के संबंध में विस्तृत जानकारी दी जाए एवं क्रियान्वित मद्य निषेध अभियान के संबंध में जागरूक किया जाए।समीक्षात्मक बैठक के दौरान निदेशक,जिला ग्रामीण विकास अभिकरण ने कहा कि वर्तमान में आम नागरिकों के हितार्थ विविध जनकल्याणकारी योजनाये क्रियान्वित है जिसके प्रचार प्रसार एवं सुचारू क्रियान्वयन में गठित समूह महती भूमिका का निर्वहन कर सकते है।
बैठक में जिला कल्याण पदाधिकारी,प्रखंड कल्याण पदाधिकारी सहित अन्य संबंधित उपस्थित थे।

भागलपुर बिहार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button