ArrahBhagalpurBiharCrimeDelhiGayaJehanabadMuzaffarpurNalandaNationalNewsPatnaPoliticsSiwanSportsUttar Pradesh

बिहार कृषि विश्वविद्यालय परिसर में कार्यरत सभी वैज्ञानिक 15 वर्षों से प्रोन्नति नहीं मिलने से 21 अक्टूबर से लगातार आंदोलनरत है

भागलपुर बिहार


बिहार कृषि विश्वविद्यालय परिसर में कार्यरत सभी वैज्ञानिक 15 वर्षो से प्रोन्नति नहीं मिलने से दिनाँक 21 अक्टूबर से लगातार आंदोलनरत है।दिनाँक 16.11.2021से वैज्ञानिक भूख हड़ताल कर रहे हैं।प्रत्येक दिन 10 की संख्या में भूख हड़ताल पर रहते हैं एवम साथ में अन्य सभी वैज्ञानिक धरना के साथ समर्थन में रहते हैं।आंदोलनकारियों ने कहा कि 15 वर्षों से हमलोगों की प्रोन्नति को विश्वविद्यालय प्रशासन लटकाकर रखे हैं।प्रोन्नति देने की सारी शक्ति विश्वविद्यालय प्रशासन के पास है फिर भी जायज माँग को नजरअंदाज किया जा रहा है।वैज्ञानिकों की माँग के समर्थन में बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोपगुट के जिला सचिव श्याम नंदन सिंह,ऐक्टू के राज्य सचिव सह नगर भाकपा कमिटी के जिला सचिव मुकेश मुक्त एवम अमर कुमार संयुक्त सचिव ऐक्टू भूख हड़ताल में शामिल होकर माँग का समर्थन किए।यह कार्यक्रम विश्वविद्यालय से जुड़े छः महाविद्यालय एवम नौ रिसर्च महाविद्यालय में जारी है सबौर कृषि विश्वविद्यालय में लगभग300 वैज्ञानिक कार्यक्रम कर रहे हैं।प्रोन्नति समय पर मिलने से मनोबल ऊंचा होता है।कार्यक्षमता में वृद्धि होता है।शिक्षक समन्वय समिति सबौर भागलपुर ने तय किया है कि जबतक हमारी मांगों को पूरा नहीं कर दिया जाता है तबतक यह आंदोलन जारी रहेगा।बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ वैज्ञानिक के आंदोलन को जायज मानता है और विश्वविद्यालय प्रशासन से माँग करते हैं कि माँग को अविलम्ब पूरा किया जाय।
विश्वासभाजन
जिला सचिव
श्याम नंदन सिंह
बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोपगुट भागलपुर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button