BhagalpurBiharEntertainmentNationalNewsPatnaSports

बाल दिवस के अवसर पर कला केंद्र में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया

कला केंद्र भागलपुर बिहार

आज दिनांक 14 नवंबर 2021 को बाल दिवस के अवसर पर कला केंद्र में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया । इस मौके पर बच्चों और उनके अभिभावकों द्वारा नृत्य व संगीत की प्रस्तुति हुई । इस अवसर पर अपनी बात रखते हुए कलाकेंद्र के शिक्षक राहुल ने कहा की जैसा बचपन होगा वैसा ही भविष्य होगा ।इसलिए बच्चों में बचपना होना बहुत जरूरी है ।कोरोना के कारण लंबे समय तक बच्चों का बचपना छिन गया । वे कमरों में कैद हो गए । इसका बहुत ही बुरा प्रभाव बच्चों के मन, मस्तिष्क और सेहत पर पड़ा है । अब माहौल ठीक हो रहा है तो हमें एहतियात के साथ बच्चों को शिक्षा, सुरक्षा और मानसिक विकास के अवसर प्रदान करने होंगे। कला बच्चों के मानसिक और शारीरिक विकास में सहायक होता है । समाजकर्मी मनोज कुमार ने  बाल दिवस की बधाई देते हुए कहा कि हर वर्ष हम इस दिन  बच्चों के अधिकारों की रक्षा का संकल्प लेते हैं  इसके बावजूद लाखों बच्चे  बेघर  और शिक्षा से विहीन हैं। भरतनाट्यम की नृत्य प्रशिक्षिका नीना प्रसाद के निर्देशन में बच्चों द्वारा भरतनाट्यम की प्रस्तुति की गई। संगीत  विनय कुमार भारती के संयोजन में  परीता मौर्य, लावण्या राज, कृतिका मंजरी, उमेश प्रसाद ने कई मंत्रमुग्ध कर देने वाले गीत गाए। इस अवसर पर वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता रामशरण, नीना प्रसाद, निभाष मोदी, सत्यम कुमार, डॉ शांति भूषण सिंह, बबलू कुमार, डॉ कुमार गौरव, उत्तम देवनाथ, अजय कुमार सिंह, परवेज़ जमाल, पूजा साह, बिपिन बिहारी यादव, डॉ अजित कुमार भारती, राजेश रंजन, शरीक खान नबाब, डॉ राजेश साह, गिरधारी लाल, जयंत कुमार, फनीचंद्र सिंह, सुनील कुमार, संजय कुमार सिन्हा, प्रीति यादव, पूनम कुमारी, सिम्मी सिन्हा,  नीलू सिंह, रोजी, रूबी आदि मौजूद थे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button