BhagalpurBiharNationalNewsPatnaPolitics

चांद झुनझुनवाला को डीएवी पब्लिक स्कूल सुल्तानगंज के द्वारा दिया गया शिक्षा गौरव सम्मान

भागलपुर बिहार

भागलपुर बिहार।
22 नवंबर 2021 दिन सोमवार। चांद झुनझुनवाला को डीएवी पब्लिक स्कूल सुल्तानगंज के द्वारा दिया गया शिक्षा गौरव सम्मान । डीएवी पब्लिक स्कूल सुल्तानगंज के द्वारा हर वर्ष शिक्षा गौरव सम्मान दिया जाता है। इस वर्ष यह सम्मान चांद झुनझुनवाला को प्रदान किया गया । जैसा की ज्ञात हो कि कोविड-19 के दौरान स्कूल बंद रहने के कारण अन्य स्कूलों की तरह विशेषकर डीएवी पब्लिक स्कूल सुल्तानगंज के द्वारा ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा के साथ-साथ अन्य गतिविधियां भी चलाई जा रही थी। जिसमें विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिता बच्चों के ज्ञान वर्धन के लिए एवं अन्य गतिविधियों के लिए चांद झुनझुनवाला के द्वारा आयोजित करवाई गई थी। जैसे चित्रकला प्रतियोगिता लेख प्रतियोगिता प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता वाद-विवाद प्रतियोगिता। यह सभी डीएवी पब्लिक स्कूल सुल्तानगंज के बच्चों के बीच आयोजित करवाई गई थी। जिसमें डीएवी पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल डाॅ शिव शंकर कुमार सिंह शिक्षक पुष्कर कुमार सिंह के साथ भागलपुर के समाजसेवी चांद झुनझुनवाला ने दी महती भूमिका अदा करी थी। साथ ही साथ ऑनलाइन माध्यम से समय-समय पर बच्चों के उत्साह वर्धन के लिए कई वक्तव्य भी चांद झुनझुनवाला के द्वारा दिए गए थे।

इन सभी के मद्देनजर कोविड-19 के बाद स्कूल खोलने पर पहली बार एक विज्ञान प्रदर्शनी आयोजित करवाई गई थी जिस के मुख्य अतिथि भी चांद झुनझुनवाला थे।
डीएवी पब्लिक स्कूल सुल्तानगंज के बच्चों के लिए निभाई गई भूमिका के लिए चांद झुनझुनवाला को स्कूल प्रशासन की तरफ से शिक्षा के गौरव का सम्मान प्रदान किया गया। जिसमें अंग वस्त्र और मोमेंटो प्रदान किया गया। स्कूल के प्राचार्य डॉ शिव शंकर कुमार सिंह ने कहा कि डीएवी पब्लिक स्कूल सुल्तानगंज शिक्षा के साथ-साथ बच्चों को विभिन्न गतिविधियों में शामिल रखता है ताकि बच्चों का सर्वांगीण विकास हो सके एवं उनके अंदर छिपी प्रतिभा को भी उनको एक मंच दिया जाता है।

और इस कार्य में चांद झुनझुनवाला जी ने स्कूल का काफी सहयोग किया है हमें इन्हें सम्मानित करके काफी हर्ष हो रहा है और आगे भी इनसे इसी प्रकार से स्कूल से जुड़े रहने का आशा व्यक्त की जाती है।

सम्मानित चांद झुनझुनवाला ने कहा कि हमने और हम सब ने जो बचपन में देखा है और जो अनुभव है वह बच्चों को जरूर दिया जाना चाहिए।
आज के समय में और खासकर कोविड-19 के समय जिस प्रकार का माहौल बच्चों के लिए बन रहा था उसमें इस प्रकार की प्रतियोगिताएं उन्हें पढ़ाई के साथ साथ विभिन्न गतिविधियों में जोड़े रखने में सहायक प्रदान हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button