BhagalpurBiharNationalNewsPatna

कंगना रनौत के आजादी वाले बयान पर कांग्रेस इंटक ने कंगना के तस्वीर को जलाते हुए देश के स्वतंत्रता सेनानियों से माफी मांगने की उठाई मांग।



कंगना रनौत ने पद्मश्री पुरस्कार की गरिमा को राष्ट्रपति भवन में किया कलंकित :ओम प्रकाश उपाध्याय


बिहार कांग्रेस इंटक के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष ओम प्रकाश उपाध्याय के नेतृत्व में कांग्रेस इंटक एवं शहर के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत की आजादी पर दिए गए बयान पर कंगना रनौत की तस्वीर की प्रतियां जलाते हुए बिहार कांग्रेस ने देश के स्वतंत्रता सेनानीयो,महापुरुषों एवं शहीदों से माफी मांगने की उठाई मांग। प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष ओम प्रकाश उपाध्याय ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि कंगना रनौत के इस बयान से साफ होता है कि उन्हें योग्यता के आधार पर पद्मश्री नहीं मिला है। मोदी सरकार ने मानसिक रूप से बीमार कंगना रनौत को पद्मश्री देकर जनतंत्र, लोकतंत्र एवं स्वतंत्रता सेनानीयो को ही नहीं, बल्कि देश की आजादी दिलाने वाले विभूतियों का अपमान किया है। देश में आजादी के बाद ही संविधान लागू हुआ था और उसी के तहत पद्मश्री से दिया जाता है। ऐसे में उन्हें अपना पद्मश्री वापस कर देना चाहिए। कंगना रनौत बीजेपी के प्रवक्ता की तरह बात करती है।उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जी को बताना चाहिए। 2014 से पहले देश में बीजेपी के भी प्रधानमंत्री रहे हैं तो क्या वह गुलाम देश के प्रधानमंत्री थे?। कंगना रनौत को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। कंगना को चाटुकारिता का पाठ पढ़ने के बजाय भारत के वीर जवानों की वीर गाथा का पाठ पढ़नी चाहिए।भाजपा सरकार ऐसे भाजपा के चाटुकार को पद्मश्री देकर आजादी के महानायकों, महापुरुषों एवं शहीदों के त्याग,तपस्या एवं बलिदान के साथ-साथ भारतीय नागरिकों के हृदय को रौंदा है। मौके पर महासचिव मंटू यादव, डॉ आरिफ आजाद, सिकंदर चौधरी ,अधिवक्ता शाहबाज खान, विश्वजीत कुमार, इब्राहिम कुमार, कामेश्वर मंडल, मनीष कुमार, संतोष कुमार बादल कुमार विवेक कुमार, मुकुंद कुमार सिन्हा,आदि दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे।

ओम प्रकाश उपाध्याय भागलपुर बिहार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button