BhagalpurPatna

साई बिहार में एकता दिवस के रूप में मनाया गया सरदार पटेल जयंती

आज 31 अक्टूबर को लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्मदिन जगदीशपुर स्थित साई बिहार में एकता दिवस के रूप में मनाया गया । इसे सरदार वल्लभ भाई पटेल की 146वीं जयंती के रूप में मनाया गया।इस मौके पर जदयू के पूर्व महानगर ज़िलाध्यक्ष सुड्डू साई ने उनके जीवनी पर प्रकाश डालते हुए बताया कि सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय एकता के शिल्पकार
आजादी के पूर्व भारत में कुल 562 देशी रियासतें थी। भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 1947 के तहत आजादी के पश्चात सभी रियासतों को हिंदुस्तान या पाकिस्तान में विलय करने का अथवा स्वतंत्र रहने का अधिकार था I इनमे से कुछ राजा एवं नवाबों की नियत भी ठीक नहीं थी I यदि इनमेसे कुछ रियासतें स्वतंत्र रहती या कुछ रियासतें पकिस्तान में विलीन होती तो भारत का नक्शा कैसा होता ? गृहमंत्री के रूप में अपने दूरदर्शी एवं बुलंद इरादों के तहत लोह पुरुष सरदार पटेल जी ने शक्ति और युक्ति का प्रयोग करते हुए समस्त रियासतों का विलय करवाकर भारत को एकाकार भव्य रूप प्रदान किया I वे राष्ट्र की एकता के महान शिल्पकार थे I मेरा व्यक्तिगत मानना है की यदि कश्मीर का मामला भी उन्हें सुलझाने दिया जाता तो भारत का इतिहास कुछ और होता I इस कार्यक्रम में सुड्डू साई पूर्व जिला अध्यक्ष महानगर जदयू भागलपुर के अलाव,निशांत कुमार,जयराम सिंह, रमाकांत मंडल,शिवशंकर यादव,अजय सिंह,आदि अनेको लोगो उपस्थित थे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button