BhagalpurPatna

नैतिक एवं आध्यात्मिक शिक्षा परिषद के सदस्यों ने श्री रंगनाथ मंदिर में किया गीता का सस्वर पाठ

भागलपुर बिहार

भागलपुर । आनंदराम ढांढनियां सरस्वती विद्या मंदिर विद्यालय के नैतिक एवं आध्यात्मिक शिक्षा परिषद की ओर से शहर के बुढ़ानाथ रोड में अवस्थित श्री रंगनाथ मंदिर में नैतिक एवं आध्यात्मिक शिक्षा परिषद के सदस्य भैया -बहनों के द्वारा गीता के 12वें अध्याय का सस्वर पाठ किया गया। प्रधानाचार्य अनंत कुमार सिन्हा एवं विद्यालय के नैतिक एवं आध्यात्मिक शिक्षा प्रमुख डॉ मनोज कुमार पांडेय के संरक्षण में संपादित इस कार्यक्रम में मंदिर प्रबंधन के सदस्य रमन कुमार चौधरी, एलेंद्र मिश्र, गोविंद चौधरी एवं बल्लभ तिवारी ने भी भरपूर सहयोग किया। सभी भैया बहनों ने भगवान श्री रंगनाथ से आशीर्वाद लेकर प्रसाद भी ग्रहण किया एवं श्री रंगनाथ मंदिर से संबंधित संक्षिप्त जानकारियां भी दी गई ।ज्ञात हो कि गीता के 12वें में अध्याय में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को भक्ति योग के बारे में बताया है जिसमें सगुन भक्ति पर जोर दिया है ।सभी कार्य ईश्वर को समर्पित करना चाहिए, व्यक्ति को निंदा रहित , सुख दुख में समान भाव रखने वाला ,द्वेष रहित ,करुणा एवं मित्रता का भाव रखने वाला एवं अहंकार रहित होना चाहिए और मन बुद्धि को ईश्वर में लगाना चाहिए। जो पुरुष सब भूतों में द्वेष भाव से रहित, स्वार्थ रहित, सबका प्रेमी और हेतु रहित दयालु है अहंकार से रहित, सुख-दुःखों की प्राप्ति में सम और क्षमावान है वह मुझे प्रिय है। इस कार्यक्रम में नैतिक आध्यात्मिक शिक्षा परिषद के सभी सदस्य भैया -बहनों ने मनोयोग से भाग लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button