BhagalpurPatna


ओ एम आर शीट पर स्नातक एवं स्नातकोत्तर की परीक्षा लेना छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़: आशुतोष

आशुतोष कुमार

विगत दिनों तिलका माँझी भागलपुर विश्वविद्यालय (टीएमबीयू) परीक्षा बोर्ड की बैठक में छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने एवं राजभवन द्वारा बनाए गए पाठ्यक्रम को दरकिनार कर विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा ओएमआर शीट पर परीक्षा लेने का एक तानाशाही एवं अतिनिंदनीय फैसला लिया गया है जो किसी भी दृष्टिकोण से छात्र हित में नहीं दिखता है। ओएमआर शीट पर स्नातक एवं स्नातकोत्तर की परीक्षा लेने से छात्र-छात्राओं के भविष्य, मेधाशक्ति, रिसर्च स्किल डेवलप करने की क्षमता तथा लेखन शैली पर विराम लगाने की विश्वविद्यालय प्रशासन की मनसा साफ जाहिर होते दिख रही है जिसे छात्र राजद द्वारा कतई बर्दाश नहीं किया जाएगा। स्नातक में 300 एवं पीजी में 140 प्रश्नों कि सीमा बांधकर विश्वविद्यालय प्रशासन ने वर्तमान में लागू पाठ्यक्रम को सीमित कर दिया जिससे कि छात्र- छात्राओं की पढ़ाई एवं शैक्षणिक गुणवत्ता का सही से आकलन नहीं हो सकता है। इसके अलावे ऐसा होने से छात्र-छात्राएँ मानसिक एवं बौद्धिक रुप से उच्च शिक्षा की ओर अपने मेधा के अनुरुप प्रदर्शन भी नहीं कर पाएंगे। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा लिए गए इस अजीबो-गरीब फैसले की जितनी निंदा की जाए वह कम है। वहीं दूसरी ओर ऐसी स्थिति में राजभवन द्वारा निर्गत पाठ्यक्रम का कोई औचित्य ही नहीं रह जाएगा। विश्वविद्यालय प्रशासन यदि अविलंब ऐसे मूर्खतापूर्ण फैसले को वापस नहीं लेता है तो छात्र राजद द्वारा व्यापक रुप से प्रदर्शन किया जाएगा।
आशुतोष यादव
प्रवक्ता, छात्र राजद
तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय ,भागलपुर।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button