Bhagalpur

भागलपुर बिहार अरहम ट्रस्ट की ओर से हुसैनपुर में विश्व उर्दू दिवस के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया

09-11-2021

अरहम ट्रस्ट क़ी ओर से मंगलवार दिनांक 09 नवम्बर 2021 को दोपहर 3 बजे से हुसैनपुर भागलपुर बिहार में विश्व उर्दू दिवस के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, इस अवसर पर अरहम ट्रस्ट के चेयरमैन रिज़वान खान ने कहा क़ी उर्दू हिंदुस्तान में पैदा हुई जुबान है जो आज पूरी दुनियाँ में बोली और पढ़ी जाती है, उर्दू जुबान ने अंग्रेज़ों के छक्के छोड़ा दिया थे,देश को आजादी दिलाने वाले देश भक्त आपस में एक दूसरे से बात और पत्राचार उर्दू में करते थे,यह अंग्रेज़ और अंग्रेजी का विरोध करते थे, देश को आजादी दिलाने में उर्दू ,का अहम रोल रहा है, आजादी के समय में माहत्मा गाँधी जी के साथ हमारे देश के प्रधानमंत्री गृह मंत्री,और राष्ट्रपति भी उर्दू पढ़ना लिखना करते थे, देश के संविधान में उर्दू भाषा को सुरक्षित भाषा का दर्जा मिला हुआ है, लेकिन देश क़ी आजादी 75 सालों में उर्दू स्तर गिरता चला गया, अंग्रेज़ ने देश तो छोड़ दिया लेकिन अपनी ज़ुबान अंग्रेजी को हिन्दुतानी के हवाले छोड़ गए, आज देश में ज्यादातर लोग अपनी मादरी जुबान को छोड़ कर अंग्रेजी के सीखने के पीछे लगे हुए है, जब क़ी अंग्रेजी बोलने वाले लोगों क़ी संख्या बहुत कम है, अंग्रेजी सिखने पर अपने गर्व करने वाले लोग यह नहीं जानते है क़ी वह खुद अपनी मादरी ज़ुबान को खतम करने वाले आज खुद ही है, अंग्रेज़ देश में 150 वर्षों तक राज किया हमारे देश में लेकिन वह हमारे देशी क़ी भाषा अपने देश इंग्लैंड लेकर नहीं गये,लेकिन वही हम हैँ क़ी हम अपनी भाषा उर्दू को बोलने लिखने पढ़ने से शर्म महसूस करते हैँ,केंद्र सरकार उर्दू भाषा का प्रचार प्रसार करने पर लाखों रूपये खर्च कर रही है, दूसरी तरफ बिहार में राजय सरकार अपने स्कूलों में छात्र छात्राओं को उर्दू क़ी पढ़ाई करवा रही है, हम अपनी संस्था अरहूम ट्रस्ट क़ी ओर से बिहार के माननीय मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार जी का बहुत शुक्रिया अदा करते हैँ वह अपने स्तर पर उर्दू भाषा को बढ़ावा देने में लगे हुए है,नितीश कुमार साहब अकलित समाज जीवन स्तर बेहतर करने का काम लगातार कर रहें हैँ, अक़्लीयत समाज बच्चे बच्चीयां जो पूर्व के शासन के समय में घर से बाहर पढ़ने के लिये नहीं निकलती थी, वह आज नितीश जी के शासन में किसी भय डर के बगैर इंजिनियर और डॉक्टर,बन रही है, हमारी मुख्यमंत्री जनाब नितीश कुमार से मांग है क़ी राज्य के सभी कान्वेंट और दूसरे स्कूलों एक विषय उर्दू को अनिवार्य किया जाये,जिस से उर्दू भाषा का स्तर बेहतर हो सके, इस अवसर पर हबीब मुर्शिद खान, मो फरुख, और मिंटू कालाकार ने भी अपने विचार रखे,

रिज़वान खान चेयरमैन अरहम ट्रस्ट भागलपुर

अरहम ट्रस्ट भागलपुर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button